धर्म

Tulsi Ke Niyam: घर में तुलसी का पौधा लगाने के लिए यह है सबसे शुभ दिन, जानें इससे जुड़े नियम – Tulsi Ke Niyam This is the most auspicious day to plant Tulsi plant at home know the rules related to it

यह भी माना जाता है कि जिस घर में हरा-भरा तुलसी का पौधा होता है, वहां कभी दरिद्रता नहीं आती है।

By Arvind Dubey

Publish Date: Sat, 30 Mar 2024 01:03 PM (IST)

Updated Date: Sat, 30 Mar 2024 01:03 PM (IST)

Religious Significance of Tulsi

HighLights

  1. गुरुवार और शुक्रवार के दिन तुलसी का पौधा लगाना बहुत शुभ माना जाता है।
  2. यदि आप अपने घर में तुलसी का पौधा लगा रहे हैं, तो कुछ जरूरी नियम जान लें।
  3. एकादशी तिथि के दिन भूलकर भी घर में तुलसी का पौधा न लगाएं।

धर्म डेस्क, इंदौर। Tulsi Ke Niyam: तुलसी के पौधे में देवी लक्ष्मी का वास माना जाता है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, सुबह-शाम इस पौधे की पूजा करने से मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। यह भी माना जाता है कि अगर घर में लगा तुलसी का पौधा हरा-भरा हो, तो कभी भी दरिद्रता नहीं आती है। ऐसे में यदि आप अपने घर में तुलसी का पौधा लगा रहे हैं, तो कुछ जरूरी नियम जान लें।

यह दिन है सबसे उत्तम

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गुरुवार और शुक्रवार का दिन तुलसी का पौधा लगाने के लिए बहुत शुभ माना जाता है। चैत्र माह के गुरुवार या शुक्रवार को तुलसी का पौधा लगाया जाए, तो यह और भी शुभ फल प्रदान करता है। वहीं, अगर आप आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं, तो शनिवार के दिन तुलसी का पौधा घर में लगाएं। इस पौधे को शनिवार के दिन अभिजीत मुहूर्त (सुबह लगभग 11 बजे से 12 बजे के आसपास) में लगाना लाभकारी होता है।

इस महीने में लगाएं पौधा

तुलसी का पौधा लगाने के लिए अक्टूबर और नवंबर का महीना सबसे अच्छा माना जाता है। इसके अलावा फरवरी माह में भी तुलसी का पौधा लगाने की सलाह दी जाती है। क्योंकि यह मौसम सामान्य रहता है। ऐसे में तुलसी का पौधा लगाने से यह सूखता नहीं है।

इस दिन न लगाएं तुलसी का पौधा

ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार सोमवार, रविवार और बुधवार के दिन तुलसी का पौधा लगाना शुभ नहीं माना जाता है। एकादशी तिथि के दिन भूलकर भी घर में तुलसी का पौधा न लगाएं। इसके कारण अशुभ परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

डिसक्लेमर

‘इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।’

  • ABOUT THE AUTHOR

    करियर की शुरुआत 2006 में मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के हिंदी सांध्य दैनिक ‘प्रभात किरण’ से की। इसके बाद न्यूज टुडे और हिंदी डेली पत्रिका (राजस्थान पत्रिका समूह) में सेवाएं दीं। 2014 में naidunia.com से डिजिटल की


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Translate »